Articles
अफगानिस्तान में तालिबान की जीत और अफ्रीका में इस्लामिक उग्रवाद के विरुद्ध भारत की आतंकवाद-निरोधक नीति

15 अगस्त 2021 को एक नाटकीय घटनाक्रम में, तालिबान ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा कर लिया। ह

भारतवर्ष का विचार

एक ऐसे व्यक्ति के रूप में जिसको अपने भारतीय पासपोर्ट पर पाकिस्तान की यात्रा करना लगभग असंभव है,

इतिहास के पृष्ठ से: भगत सिंह केवल मात्र एक क्रान्तिकारी या युवाओं के प्रणेता

आधुनिक समय में महाविनाश और महासृजन एक दूसरे के प्रतिद्वंदी बनकर आमने-सामने खड़े हैं। इनमें से

अतिविषम मौसम की घटनाएं: यह समय जलवायु परिवर्तन के लिए वैश्विक प्रतिक्रियाओं को प्राथमिकता देने का

अतिविषम मौसम की घटनाएं पूरी दुनिया को तबाह कर रही हैं। यूरोप से लेकर एशिया, उत्तरी अमेरिका से ले

तालिबान की जीत: क्षेत्र पर उसका असर

अफगानिस्तान में 1990 के दशक में तालिबान ने रब्बानी सरकार को काबुल से हटा कर सत्ता पर कब्जा किया था

पूर्वी लद्दाख-फिक्सिंग,“बफर क्षेत्र में गश्ती नहीं”!

भारतीय सेना/आईटीबीपी एवं चीनी सेना (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी/पीएलए) के बीच एलएसी (वास्तविक नियंत्

अफगानिस्तान में तालिबानी हुकूमत के असर

अफगानिस्तान के हालिया घटनाक्रमों के वैश्विक एवं क्षेत्रीय स्थिरता के लिए अच्छे संकेत नहीं है

सीपीपीसीसी के चेयरमैन वांग यांग का तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र का दौरा अहम

वांग यांग का22 सदस्य शिष्टमंडल के साथ तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र (टार) ल्हासा का तीन दिवसीय (18-20 अगस्

अफ़ग़ानिस्तान की नई सरकार, पाकिस्तान और भारत

7 सितम्बर को अफ़ग़ानिस्तान में नई सरकार की घोषणा हो गयी। तैतीस सदस्यीय मंत्रिमंडल में तीस मंत्री

अफगानिस्तान के पतन पर कैसी है मध्य एशिया की प्रतिक्रिया?

परिचय हाल के सप्ताहों में मध्य एशियाई गणराज्यों (सीएआर) में जो घटनाक्रम होता रहा है, उसके न

Contact Us